Sunday, 24 April 2016

स्वर्ग


ऊपर किसी ने नही देखा। नीचे ही स्वर्ग लगता है। इसलिए पहले ऊपर जाकर वातावरण का जायजा लेने में ही अकलमंदी है। बिना वजह पत्नी को अनजान जगह ले जाने का कोई फायदा नही। ऊपर जाकर हालात देखो। पत्नी से मोबाइल पर बात करो। अगर वह आना चाहे, तो उसे भी बुला लो।


(यह पत्र नवभारत टाइम्स में 12 फरवरी 2011 को प्रकाशित हुआ)