Thursday, 31 March 2016

जीत का जज्बा


हमारे टेनिस सितारे लिएंडर पेस ने 11 ग्रैंड स्लैम जीत कर यह साबित कर दिया है किसी खिलाडी के प्रदर्शन का संबंध उसकी उम्र से नही बल्कि जज्बे से होता है। अगर कोई खिलाडी जीत के जज्बे से खेले, तो उसे सफलता मिलनी तय है। पेस उन चुनिंदा खिलाडियों में से हैं जिन्होंने कड़ी मेहनत से यह मुकाम हासिल किया है। वे अभी भी रॉजर फेडरर की तरह कड़ी मेहनत करने की इच्छा जाहिर करते हैं। टेनिस के प्रति उनकी निष्ठा और समर्पण बेजोड़ है। उन्होंने भारत को गौरवान्वित होने के अनेक अवसर दिए हैं। उम्मीद है भारत के उभरते हुए टेनिस खिलाडी पेस से कोई सबक लेंगे।

(यह पत्र नवभारत टाइम्स में 5 फरवरी 2010 को प्रकाशित हुआ।)