Wednesday, 18 November 2015

कैसे करें अपना कारोबार


जब पेट पर लात पड़ेगी तो इंसान बौखलाएगा ही। दिल्ली सरकार को अदालत से वक्त लेना चाहिए। दुकानों को सील करने की प्रक्रिया अनुचित है। जब कोर्ट सीलिंग के खिलाफ कुछ भी सुनने को तैयार नहीं है, सरकार का नोटिफिकेशन भी बेकार साबित हो रहा है, तब कारोबारियों का गुस्सा फटना जायज है।


(यह पत्र नवभारत टाइम्स में 3 अप्रैल 2006 को प्रकाशित हुआ।)