Thursday, 28 May 2015

वैट की सफलता


संपादकीय टिप्पणी "वैट की सफलता" पढ़ी। यह एकदम सही है कि कर प्रक्रिया जितनी सरल और स्पष्ट होगी, जनता कर की चोरी उतनी ही कम करेगी। यदि करों को कम कर दिया जाए तो चोरी बिलकुल समाप्त हो सकती है। वैट इस की तरफ एक कदम है।
वैट लागू होने से दिल्ली में राजस्व उम्मीद से अधिक बढ़ा है। यह इस बात का संकेत है कि यदि केंद्रीय बिक्री कर को समाप्त कर के पूरे देश में एक वैट कानून हो तो बिक्री कर की चोरी समाप्त हो सकती है। वैट ने साबित कर दिया है कि सरल और पारदर्शी कर प्रक्रिया हो तो जनता खुद ही करों की चोरी रोक देगी। लेकिन यह सब लागू करने में सरकार की निष्ठा ज़रूरी है।


(यह पत्र सरिता (दिव्तीय) 2005 अंक में प्रकाशित हुआ।)