Sunday, 12 April 2015

ड्रेस कोड पर विवाद

कुछ लोग समय समय पर महिलाओं के लिए ड्रेस कोड की मांग करते रहते हैं। कपडे उम्र, जलवायु और व्यवसाय को ध्यान में रखकर ही पहनना उचित है। जो कपडे रैंप पर मॉडल पहनती हैं या फिल्मों में अभिनेत्रियां पहनती हैं, उन्हें आम ज़िन्दगी में शायद ही कोई पहन कर निकलता हो। ये अभिनेत्रियां या मॉडल खुद सामान्य दिनों में वे कपडे नहीं पहनती। ड्रेस कोड की मांग गलत है। यह एक सामाजिक मामला है। समाज ड्रेस से नहीं, बल्कि विचारों और नज़रियों से पहचाना जाता है।


(यह पत्र नवभारत टाइम्स में 9 मई 2005 को प्रकाशित हुआ।)