Thursday, 18 December 2014

मीडिया दोषी नहीं

शाहिद करीना कपूर प्रकरण में मीडिया को दोष देना ठीक नहीं है। सच तो यह है कि आम जनता सेलिब्रिटी की ज़िन्दगी को जानना समझना चाहती है। इस कारण मीडिया उनके बारे में अगर कुछ छापता है तो सेलिब्रिटी को बुरा नहीं मानना चाहिए। यदि शाहिद करीना कपूर के मामले में मीडिया ने अपनी लक्ष्मण रेखा पार की है तो उसके लिए भी कसूरवार खुद करीना और शहीद ही हैं। सार्वजनिक स्थलों पर अंतरंगता का प्रदर्शन मर्यादा की हदों को पार करना ही माना जाएगा। सेलिब्रिटी होने के कारण उन्हें कुछ मूल्य तो चुकाना ही पड़ेगा। प्राइवेसी का हक़ सेलिब्रिटी समेत सबको है लेकिन निजी और सार्वजानिक स्थलों के फर्क को समझना भी ज़रूरी है।


(यह पत्र नवभारत टाइम्स, 6 जनवरी 2005 में प्रकाशित हुआ।)