Saturday, 23 August 2014

रात में बाजार

रात में अपराध बढेगें। सुरक्षा की दृष्टि से भी रात में बाजार खोलना उचित नही है। देर रात को पब्लिक ट्रांसपोर्ट कम होता है। कर्मचारियों को घर वापस जाने में परेशानी होगी।


(यह पत्र 21 जून 2004 को नवभारत टाइम्स में प्रकाशित हुआ।)