Saturday, 17 May 2014

कैस

कैस लागू नही होना चाहिए, क्योंकि विज्ञापनदाताओं से ये बहुत पैसे वसूलते हैं। साथ ही दर्शकों से भी केबल वाले बहुत पैसा वसूलते हैं। इनको या तो विज्ञापनदाताओं से पैसे लेने चाहिए या फिर कैस लागू कर के दर्शकों से पैसे नहीं लेने चाहिए।


(यह पत्र नवभारत टाइम्स 22 दिसंबर 2003 में प्रकाशित हुआ।)