Saturday, 12 April 2014

मामला बरात लौटाने

जून 2003 अंक में प्रकाशित लेख मामला बरात लौटाने वाली हिम्मती...में सही सवाल उठाए हैं। दहेज एक गंभीर समस्या है, इस का हल हमारे युवा वर्ग के पास है पर वह भी इस का हिस्सा बनता जा रहा है।

यह आश्चर्य की बात है कि युवा वर्ग जितना अधिक शिक्षित हो रहा है और युवतियां अधिक कमाने लगी है दहेज का लोभ भी उतना ही अधिक बढता जा रहा है। कहीं ऐसा तो नही रि अपनी बुराइयों और कमजोरियों को अधिक दहेज की आड में छिपाया जा रहा हो।


(यह पत्र गृहशोभा अगस्त 2003 अंक में प्रकाशित हुआ।)